यूपी के रिटायर्ड आईएएस अधिकारी ने क्यों कहा मैं यूपी का सबसे बड़ा हिस्ट्रीशीटर अपराधी बोल रहा हूं ? सरकार मुझ पर चलाएं संगीन अपराध का मुकदमा , पढ़े पूरी खबर

यूपी के रिटायर्ड आईएएस अधिकारी ने क्यों कहा मैं यूपी का सबसे बड़ा हिस्ट्रीशीटर अपराधी बोल रहा हूं ? सरकार मुझ पर चलाएं संगीन अपराध का मुकदमा , पढ़े पूरी खबर

लखनऊ . यूपी के उन्नाव जिले में रिटायर्ड आईएएस अधिकारी सूर्य प्रताप सिंह पर पुलिस ने अफवाह फैलाने व महामारी एक्ट उलंघन समेत कई धाराओं में मुकदमा दर्ज किया है. मामला यूं है कि रिटायर्ड आईएएस अधिकारी अक्सर सरकारी सिस्टम से अपने सवाल पूछने कारण अक्सर चर्चा में रहते हैं. इस महामारी के दौरान एसपी सिंह ने कई वीडियो और ट्वीट्स पोस्ट कर कोरोना के कारण हो रही मौतों व मिलने वाले इलाज पर प्रश्नचिह्न खड़ा किया है. जोकि स्वास्थ्य विभागों की कमियों को उजागर करता है.

हाल में ही एसपी सिंह ने ट्वीट्स करते हुए गंगा में तैरते शव को लेकर सवाल उठाए थे .उसी के बाद ही पुलिस ने उन्नाव में रिटायर्ड IAS सूर्य प्रताप सिंह पर एफआईआर दर्ज कर दी.

सदर कोतवाली पुलिस ने रिटायर्ड आईएएस एसपी सिंह के ट्वीट का संज्ञान लेते हुए महामारी एक्ट, आपदा प्रबंधन एक्ट व आईटी एक्ट में मुकदमा दर्ज किया गया है. पुलिस का दावा है जो 100 शव गंगा में बहते हुए दिखाए जा रहे हैं, वह पुराना है.

 उत्तर प्रदेश के उन्नाव (Unnao) में रिटायर्ड आईएएस अधिकारी सूर्य प्रताप सिंह (Retd IAS Surya Pratap Singh) पर एफआईआर (FIR) दर्ज की गई है.आरोप यह है कि रिटायर्ड आईएएस पर एक ट्वीट के माध्यम से जनता को भड़काने के प्रयास का आरोप है. एसपी सिंह का ट्वीट सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रहा है. इसी को लेकर उन्नाव सदर कोतवाली पुलिस ने ट्वीट का संज्ञान लिया है. सदर कोतवाली में रिटायर्ड आईएएस अधिकारी पर महामारी एक्ट, आपदा प्रबंधन एक्ट व आईटी एक्ट में मुकदमा दर्ज किया गया है. वहीं पूर्व आईएएस सूर्य प्रताप सिंह के मुताबिक़ सरकार से सवाल पूछने पर अब तक उन पर 5 एफआईआर दर्ज हो चुकी हैं.

दरअसल एसपी सिंह ने ट्वीट्स करते हुए लिखा है कि 67 शवों को योगी सरकार ने गंगा के तट पर जेसीबी से गड्ढा खोदकर दफन किया है. शवों का अंतिम संस्कार हिन्दू रीति रिवाज से न करना हिंदुओ का अपमान है. यूपी के योगी मॉडल की आलोचना करते हुए एसपी सिंह ने एक फोटो शेयर किया है जिसमें शव गंगा में बहते हुए जा रहे हैं. एसपी सिंह का ट्वीट सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रहा है.

उसके बाद एसपी सिंह ने ट्वीट करते हुए लिखा कि मैं उत्तरप्रदेश का सबसे बड़ा अपराधी सूर्यप्रताप सिंह बोल रहा हूँ। मेरा अपराध है की मैंने जनता के लिए बेड, आक्सीजन और दवाइयों की माँग की.मेरा अपराध है की मैंने जनता के शवों का सम्मान से अंतिम संस्कार करने की माँग की .जल्द ही मुझे हिस्ट्रीशीटर घोषित कर मुझपर 50 हज़ार का इनाम रख दिया जाए. वैसे ट्वीट करने से अगर ‘छवि की हत्या’ हो रही हो तो 302 के तहत मुझपर हत्या का मुक़दमा भी चलाया जा सकता है संविधान की कठोरतम धाराएँ लगाइए, क्रूरता में किसी प्रकार की कमी ना रह जाए

वही एसपी सिंह ने एफआईआर दर्ज होने के बाद जवाब देते हुए कहा कि उन्नाव में कोई लाशें नहीं तैर रहीं? क्या मुझ पर मुक़दमा कर देने से सच नहीं बदल जाएगा?

शेयर करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *