रायपुर जिला प्रशासन व समाजसेवी संस्थाओं की कोरोना महामारी से बचाव हेतु जागरूकता की साझा मुहिम दिखा रही असर

रायपुर जिला प्रशासन व समाजसेवी संस्थाओं की कोरोना महामारी से बचाव हेतु जागरूकता की साझा मुहिम दिखा रही असर

मरीजों को दवाई पहुंचाने से लेकर लोगों को टीकाकरण के लिए प्रोत्साहित कर रहे हैं वॉलिंटियर्स

रायपुर .कोरोना महामारी ने पूरे भारत में तबाही मचा रखा है. लाखों में सक्रिय मामले थमने का नाम नहीं ले रहे हैं. लेकिन वहीं दूसरी ओर समाज में कुछ ऐसे भी लोग हैं जो अपनी जान की बिना परवाह किए लोगों को कोरोना महामारी से बचाव के बारे में जागरूक कर रहे हैं. छत्तीसगढ़ के रायपुर में जिला प्रशासन व समाजसेवी संस्था लोगों को जागरूक करने में लगी हुई है.

#RokoAuToko वालंटियर्स की टीम लगातार अपनी सेवा देने में प्रयासरत हैं। 1 मई से शुरू हुए (18 उम्र से ज्यादा वर्ष) कोविड टीकाकरण के तीसरे चरण में सभी वालंटियर्स राजधानी रायपुर के सभी हिस्सों में उत्साह और जोश से अपना काम कर रहे हैं।

लोगों को कोविड टीकाकरण की जानकारी देना, वैक्सीन के लाभ बताना, वैक्सीन हमारे शरीर के लिए क्यों जरूरी है, जैसी तमाम जानकारियां लोगों तक पहुँचा रहें हैं। साथ ही हर क्षेत्र में जाकर लोगों को उनके नज़दीकी स्वास्थ्य केंद्र की जानकारी भी उपलब्ध करा रहे हैं।

वालंटियर्स 18 वर्ष और उसके ऊपर के सभी लोगों से वैक्सीन लगवाने की अपील कर रहे हैं। लोगों में जागरूकता लाने मेगा फ़ोन और पोस्टर के माध्यम से भी वह अपनी बात पहुँचा रहे हैं। 

रोको अउ टोको वालंटियर्स अलग-अलग वार्ड के टीकाकरण केंद्रों में जाकर आम लोगों के साथ ही स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं की भी मदद कर रहे हैं और सभी को कोविड टीकाकरण के लिए प्रोत्साहित कर रहे हैं।

लगातार रायपुर के 70 वार्ड में होम आइसोलेशन पर रहने वाले मरीजों को ये वालंटियर्स प्रशासन द्वारा जारी दवाइयां पहुँचाने का भी काम कर रहे हैं। साथ ही सभी को कोविड अनुरूप व्यवहारों का कड़ाई से पालन करने की  सलाह दे रहे।

समर्थ ट्रस्ट, वी द पीपल और यूनिसेफ के सहयोग से लगातार इन वालंटियर्स की मॉनिटरिंग और ट्रेनिंग की जा रही है ताकि समय-समय पर इन वालंटियर्स को शासन-प्रशासन द्वारा बनाएं नियमों और शुरू की गई योजनाओं के बारे में बताया जा सके। इस मॉनिटरिंग और ट्रेनिंग से वे काफी उत्साहित होते हैं और ज्यादा जानकारी जमीनीस्तर पर काम करने में उनके काम आती है।

इसी मुहिम से जुड़ी एनएसएस वॉलिंटियर भूमिका यादव बताती हैं कि अभी भी लोगों में कोरोना महामारी से बचने को लेकर जानकारी का बहुत अभाव है. हम लोग लगातार लोगों को बचने का उपाय, टीकाकरण का महत्व, साफ सफाई व घर में रहने का सुझाव देते हैं. क्योंकि सजगता ही बचाव है

वही दूसरी ओर रायपुर नगर निगम की तरफ से इन वालंटियर्स को लोगों की प्राथमिक जांच करने के लिए ऑक्सीमीटर और पल्स मीटर जैसी किट दी गई है, जिससे ये घर-घर जाकर लोगों के ऑक्सिजन और ब्लड प्रेशर की जांच कर सकते हैं। इसके साथ ही उन्हें वह सारी न्यूनतम और महत्वपूर्ण जानकारी दी गई है, जो कोरोना संक्रमित होने के लक्षणों के वक़्त जांच के विषय होते हैं।

शेयर करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *